अपराधताजा ख़बरेंदुनियादेशब्रेकिंग-न्यूज़राज्यहोम

उत्तर प्रदेश औरैया जिला मजिस्ट्रेट सुनील कुमार वर्मा ने अभियुक्त राकेश कुमार यादव उर्फ योगेंद्र निवासी इटैली अवैध सम्पत्ति कुर्क करने के दिए आदेश |  ( पंकज सिंह राणावत की खास रिपोर्ट  )

( औरैया जिला मजिस्ट्रेट सुनील कुमार वर्मा ने अभियुक्त राकेश कुमार यादव उर्फ योगेंद्र निवासी इटैली अवैध सम्पत्ति कुर्क करने के दिए आदेश  )

उत्तर प्रदेश औरैया जिला मजिस्ट्रेट सुनील कुमार वर्मा ने उत्तर प्रदेश गिरोहबंद एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 की धारा 14 एक के अंतर्गत अभियुक्त राकेश कुमार यादव उर्फ योगेंद्र निवासी इटैली थाना अछल्दा के द्वारा अवैध रूप से अर्जित धन में से एसबीआई बैंक शाखा अछल्दा में जमा 14492 रुपए वह अभियुक्त की पत्नी सरोज कुमारी के पहले बैंक खाते में जमा 22119 रूपये और दूसरे खाते में जमा 1 लाख रुपये व पीपीएफ खाते में जमा 16428 व 13429 रुपए वह गाटा संख्या 524/0.4210 हेक्टेयर में निर्मित दरवारीलाल महाविद्यालय जिसका मूल्य 40 लाख 50 हजार रुपये है एवं चार पहिया वाहन संख्या यूपी 79 डी 2696 जिसका इसका मूल्य 65 हजार रूपये है, को कुर्क किए जाने का आदेश दिया। जिला मजिस्ट्रेट ने यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक द्वारा भेजी गई आख्या के आधार पर की। पुलिस अधीक्षक ने जिला मजिस्ट्रेट को अपनी आंख्या में अवगत कराया कि अभियुक्त राकेश कुमार यादव निवासी इटैली थाना अछल्दा के विरुद्ध अछल्दा थाने में धारा 147, 353, 504, 506 सहित कई अन्य अधिनियमों में में मुकदमें दर्ज है। अभियुक्त के खिलाफ 10 अप्रैल को न्यायालय में आरोप पत्र भी प्रेषित किया जा चुका है। अभियुक्त राकेश कुमार यादव एक गैंग लीडर है। अभियुक्त के द्वारा साथियों के साथ मिलकर एक गिरोह बनाकर अपराध किया गये है। अभियुक्त राकेश कुमार यादव आपराधिक मानसिकता का व्यक्ति है और विगत 10 वर्षों से संगठित होकर गिरोह बनाकर अपराध करता है इसके विरुद्ध जनता का कोई भी व्यक्ति गवाही देने की हिम्मत नहीं करता है यह गंभीर आपराधिक कार्य एवं समाज विरोधी क्रियाकलापों में संलिप्त है और वर्तमान में जिला कारागार इटावा में न्यायिक अभिरक्षा में निरूद्ध है। जिला मजिस्ट्रेट ने अभियुक्त की अचल संपत्ति और बैंक खाते में जमा धनराशि की कुर्की की कार्रवाई नियमानुसार करने का आदेश दिया। उन्होंने क्षेत्राधिकारी बिधूना/ प्रभारी निरीक्षक थाना अछल्दा को शाखा प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक अछल्दा से संपर्क कर संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया। चार पहिया वाहन प्रभारी निरीक्षक अछल्दा की अभिरक्षा में रखने के निर्देश दिए। दरवारी लाल महाविद्यालय जिसकी कीमत लगभग 40 लाख 50 हजार रूपये है उसे एसडीएम बिधूना / तहसीलदार बिधूना के द्वारा कुर्क किया जाएगा । प्रतिवादी राकेश कुमार यादव आदेश के तमील के उपरांत 3 माह के अंदर अपना अभ्यावेदन न्यायालय में उपस्थित होकर प्रस्तुत कर सकता हैं।

 ( पंकज सिंह राणावत की खास रिपोर्ट  )

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
Close